URL क्या है? – जानिये हिंदी में!

क्या आप URL शब्द से परिचित हैं? अगर आप इन्टरनेट का इस्तेमाल करते हैं, तो हम guarantee से यह कह सकते हैं कि आपने “URL” के बारे में जरुर सुना होगा और देखा भी होगा। आज के इस लेख में हम आपको बताने वाले हैं कि URL क्या है (What is URL in Hindi) और इसके 3 सबसे महत्वपूर्ण Parts  कौन से हैं? तो यह जानने के लिये आज के इस article को पूरा पढ़ें।

URL क्या है (What is URL in Hindi)

URL Kya Hai

URL का full form होता है Uniform Resource Locator, URL इंटरनेट पर किसी विशिष्ट (specific) website, page या file का एक स्थान (location) होता है।

उदाहरण के लिए, अगर आप अपने वेब ब्राउज़र में https://www.hindimesuchna.com/url-kya-hai-hindi/ enter करते हैं, तो आपका वेब ब्राउज़र आपको इस पोस्ट पर ले आएगा। लेकिन अगर आप सिर्फ https://www.hindimesuchna.com/ enter करते हैं, तो आप hindimesuchna के homepage पर पहुंच जायेंगे।

URL के तीन महत्वपूर्ण Parts

तो, आईये अब जानते हैं कि URL के 3 Important Parts कौन से है:

1. The protocol

निम्नलिखित URL पर विचार करें:

https://www.hindimesuchna.com/firewall-kya-hai-hindi/

इस address का सबसे आसान हिस्सा जो है वह सबसे पहला हिस्सा है। आप शायद हर URL की शुरुआत में http: // और https: // देखते होंगे, पर शायद आप इस पर विचार न किये हों। हालाँकि, यह element – URL का ‘protocol’ होता है जिसके बारे में आपको ज़रूर जानना चाहिए।

Protocol आपके ब्राउज़र को बताता है किसी भी website के server से कैसे communicate करें, information को भेजने और प्राप्त करने के लिये। Traditionally, अधिकांश साइटों ने Hypertext Transfer Protocol (HTTP) का उपयोग किया है, और आप अभी भी इस version को पूरे वेब पर देख सकते हैं।

हालाँकि, Hypertext Transfer Protocol Secure (HTTPS) को व्यापक रूप से अब बहुत सी साइटों ने अपनाना शुरू कर दिया है। जबकि यह प्रोटोकॉल HTTP के समान ही काम करता है, यह बहुत अधिक सुरक्षित विकल्प है जो ब्राउज़र और सर्वर के बीच भेजे गए डेटा को encrypt करता है। यही कारण है कि अधिकांश ब्राउज़र इसे हरे रंग का security padlock देते हैं।

2. The domain name

आइए थोड़ी देर के लिए पहले वाले URL पर वापस चलते हैं:

https://www.hindimesuchna.com/firewall-kya-hai-hindi/

अगला part जो सबसे अधिक पहचानने के योग्य है वो है ‘domain name’। इस case में, यह hindimesuchna.com (हमारी वेबसाइट!) है। एक domain name एक specific site के लिए एक identifier होता है, जो आम तौर पर आपको होम पेज पर सीधे लाएगा अगर इसके आखिर में कुछ और नहीं added हो।

बेशक, एक domain name वास्तव में दो छोटे parts से मिलकर बना होता है। पहला वेबसाइट का नाम और बाद वाला शब्द .com, .org, .net होता है जो domain name के अंत में होता है।

3. The path

अगर आप हमारी वेबसाइट के फ्रंट पेज पर जाना चाहते हैं, तो आपको केवल protocol और domain name: https://www.hindimesuchna.com की आवश्यकता होगी। लेकिन वेबसाइट पर प्रत्येक individual page या file का अपना URL भी होता है। एक बार फिर से पहले वाले URL को देखें।

https://www.hindimesuchna.com/firewall-kya-hai-hindi/

Domain के बाद का हिस्सा ‘path’ के रूप में जाना जाता है। ऐसा इसलिए है क्योंकि यह ब्राउज़र को वेबसाइट के एक विशिष्ट पेज पर जाने को निर्देशित करता है।

URL Shortening क्या होता है

URL shortening एक ऐसी तकनीक है जिसमें एक URL को लंबाई में काफी कम किया जा सकता है और फिर उसके बाद भी आवश्यक पेज पर निर्देशित (direct) किया जा सकता है। URL shortener की कई सारी services उपलब्ध हैं। जबकि कई तो free हैं, और कुछ Web analytics जैसी क्षमताओं की पेशकश करते हैं और शुल्क लेते हैं। URL shortener पेश करने वाली कंपनियों में Rebrandly, Bitly, Ow.ly, clicky.me, Budurl.com शामिल हैं।

क्या होता है जब आप अपने ब्राउज़र में कोई URL Type करते हैं?

अगर आप इन्टरनेट पर इसके बारे में search करते हैं तो आपको कई सारे detailed resources मिल जायेंगे, लेकिन हम संक्षिप्त में समझेंगे कि कैसे एक वेब ब्राउज़र, एक सर्वर और सामान्य इंटरनेट एक साथ काम करते हैं।

  1. आप एक वेब ब्राउज़र में एक URL को enter करते हैं।
  2. ब्राउज़र DNS के माध्यम से domain name के लिए IP address को देखता है।
  3. ब्राउज़र सर्वर पर एक HTTP request भेजता है।
  4. सर्वर वापस से एक HTTP response भेजता है।
  5. ब्राउज़र HTML को render करना शुरू कर देता है।
  6. ब्राउज़र request भेजता है additional objects embedded करने के लिये HTML (images, css, JavaScript) में , और steps 3-5 को दोहराता है।
  7. एक बार पेज लोड होने के बाद, ब्राउजर जरूरत के अनुसार further async requests भेजता है।

आईये इसे थोडा और अच्छे से समझते हैं।

जब आप अपने ब्राउज़र में “https://www.hindimesuchna.com” टाइप करते हैं, तो पहली चीज़ जो होती है वो है Domain Name Server (DNS), जो कि match करता है “www.hindimesuchna.com” को एक IP address से। फिर ब्राउज़र सर्वर पर एक HTTP request भेजता है और सर्वर वापस से एक HTTP response भेजता है। ब्राउज़र पेज पर HTML को render करना शुरू करता है, जबकि CSS, JavaScript, images आदि जैसे किसी भी additional resources का अनुरोध भी करता है। और फिर पेज लोड हो जाता है।

 

यह लेख आपको कैसा लगा?

हम उम्मीद करते हैं कि आपको हमारा यह लेख URL क्या है पसंद आया होगा और अब आप URL के तीन महत्वपूर्ण Parts के बारे में भी अच्छे से समझ गए होंगे। अब अगर आप से What is URL in Hindi के विषय में कोई सवाल करे तो हमें उम्मीद है कि आप बिलकुल आसानी से बता सकेंगे।

अगर आप के मन में URL क्या है से सम्बंधित कोई सवाल है या आप अपना कोई सुझाव देना चाहते है तो आप हमें comment के ज़रिये ज़रूर बताये।

अगर आपको हमारा आज का यह लेख (What is URL in Hindi) अच्छा लगा हो तो कृपया हमारे इस लेख को Social Media Sites जैसे Facebook,WhatsApp और Twitter आदि पर नीचे दिए गए बटन का उपयोग करके share करना न भूलें जिससे और भी लोग इस जानकारी का लाभ ले सकें धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here