Signal App Kya Hai? पूरी जानकारी हिंदी में!

हाल ही में WhatsApp ने अपनी Privacy policy में कुछ बदलाव किया है, जिसके अनुसार अब वह अपने Users के डाटा का Business के लिए Use करेगा, और इसके साथ ही अब User के डाटा को Facebook तथा Instagram और उनकी सहायक कंपनियों के साथ शेयर करेगा। इसके बाद से ही WhatsApp के Users परेशान हैं, कि अब वो क्या करें। अगर इस समय WhatsApp का Alternative देखा जाए तो Signal App को सबसे ज्यादा secure माना जा रहा है। लेकिन बहुत सारे लोगों को यह नहीं पता कि Signal App Kya Hai? इसके कौन-कौन से Features इसे WhatsApp की तुलना में बेहतर बनाते हैं। तथा Signal App की Privacy Policy क्या है? अगर आपको भी इन सभी सवालों का जवाब जानना है, तो आपको चिंता करने की आवश्यकता नहीं है। आज के आर्टिकल में हम आपको Signal App के बारे में बताएंगे इसलिए इस लेख को पूरा पढ़ें।

Signal App Kya Hai in Hindi?

Signal App Kya Hai

Signal App, Signal Foundation and Signal Messenger द्वारा निर्मित एक messaging app है। जो Android, Windows, Linux, iPhone, आदि ऑपरेटिंग सिस्टम पर कार्य करता है। WhatsApp की तरह इसमें भी आप वीडियो & ऑडियो कॉलिंग तथा मैसेज, टेक्स्ट, फोटो आदि भेज सकते हैं।

Signal app को Signal Messenger के CEO Moxie Marlinspike ने Develop किया था, जोकि एक अमेरिकन क्रिप्टोग्राफर हैं। Signal Foundation and Signal Messenger एक नॉन-प्रॉफिट कंपनी है। इसके App को Use करने के लिए आपको पैसा नहीं देना पड़ता है।

Signal App Ke Features Kya Hai?

Signal App बहुत ही Secure माना जाता है, क्योंकि यह लोगों के Data की सुरक्षा को ध्यान में रखकर बनाया गया है। यह अपने Users का कोई भी डाटा नहीं सेव करता है। सिर्फ अकाउंट बनाने के लिए आपसे आपका मोबाइल नंबर मांगता है। Signal App में सभी end-to-end encrypted रहते हैं, जिसका मतलब कि Massage भेजने वाले और Massage प्राप्त करने वाले के अलावा अन्य दूसरा कोई भी व्यक्ति उस Massage को ना तो देख सकता है, ना पढ़ सकता है। इसके अलावा इसमें भी WhatsApp की तरह बहुत सारे Features हैं।

  • WhatsApp की तरह इसमें भी आप किसी भी प्रकार के मैसेज, PDF, Contact, Location आदि को किसी के पास भेज सकते हैं।
  • Signal App में Data Linked to You का Feature मौजूद है, जिसका उपयोग करने से कोई भी आपके Chat Massages का स्क्रीनशॉट नहीं ले सकता है।
  • Signal App में आप इसकी सुरक्षा के लिए Pin सेट कर सकते हैं, जिससे कोई दूसरा व्यक्ति इसका इस्तेमाल नहीं कर पाएगा।
  • इसमें आपसे आपकी Personal Details नहीं मांगी जाती है।
  • इसमें आप ग्रुप बनाकर किसी व्यक्ति को उस ग्रुप में शामिल तबतक नहीं कर सकते हैं, जबतक वह व्यक्ति खुद न चाहे।
  • WhatsApp की तरह इसमें भी Delete for everyone का Feature उपलब्ध है, जिसका प्रयोग करके आप भेजे गए Massage को डिलीट कर सकते हैं और वह Massage जिस व्यक्ति के पास गया है ,उसे नहीं दिखाई देगा।
  • इसमें WhatsApp की तरह डाटा Google Drive, Cloud Store पर नहीं सेव होता है। जिसका मतलब कि आप अपने Data का बैकअप नहीं ले सकते हैं।
  • इसमें Typing ON/OFF का Feature मौजूद है, जिसका उपयोग करने से किसी को Massage करते समय जब आप Typing करेंगे तब कोई भी यह नहीं जान पाएगा कि, आप Typing कर रहे हैं।
  • इसमें Hide Blue tick का भी Feature मौजूद है, जिसका उपयोग करने पर कोई भी यह नहीं जान पाएगा की आपने उसके द्वारा भेजे गए Massage को देख लिया है।
  • इसमें Disappearing Massage का Feature मौजूद है, जिसका उपयोग करके आप एक निश्चित समय के बाद पुराने Massage को Automatic डिलीट कर सकते हैं।

Signal App Ki Privacy Policy Kya Hai?

सभी प्रकार के मैसेजिंग ऐप की तुलना में Signal App की Privacy Policy बहुत ही बढ़िया है।

  • इसमें लगभग सभी प्रकार के डाटा End to End Encrypted होते हैं, जिसका मतलब कि आपका डाटा सुरक्षित है।
  • Signal App आपका डाटा किसी वेबसाइट, कंपनी या किसी भी प्रकार के Third Party से नहीं शेयर करता है।
  • यह अपने Users से सिर्फअकाउंट बनाने के लिए उनका Contact Number लेता है, इसके अलावा अन्य किसी भी प्रकार का डाटा नहीं लेता है।
  • Signal App को इस्तेमाल करने के लिए आप की न्यूनतम उम्र 13 वर्ष की होनी चाहिए।
  • यह आपसे कैमरा, माइक्रोफोन, स्टोरेज, कांटेक्ट, कैलेंडर, फोटो, मीडिया फाइल, लोकेशन, इंटरनेट कनेक्शन, वाईफाई, का Access मांगता है, Signal App का Meta Data भी एंड टू एंड इंक्रिप्टेड होता है।

 

Signal App Aur WhatsApp me Antar Kya Hai | Signal Vs WhatsApp

यह WhatsApp या दूसरे Massaging Applications की तुलना में कई गुना बेहतर है।

  • इसमें आपका डाटा किसी से भी शेयर नहीं किया जाता है, जबकि WhatsApp आपका डाटा Facebook, Instagram और उनकी सहायक कंपनियों के साथ बिजनेस के लिए साझा करता है।
  • इसमें आपसे किसी भी प्रकार का पर्सनल डाटा नहीं मांगा जाता है, जबकि WhatsApp और Telegram में Contact Information जैसे पर्सनल डिटेल्स मांगी जाती है।
  • WhatsApp पर आप ग्रुप बनाकर किसी को भी जोड़ सकते हैं, जबकि यहां पर आप यदि किसी व्यक्ति को जोड़ना चाहते हैं तो पहले उसके पास नोटिफिकेशन जाएगा, अगर वह जुड़ना चाहता है तभी आप उसे जोड़ सकते हैं।
  • इसमें आप सिक्योरिटी पिन जोड़ सकते हैं, जिससे कोई दूसरा व्यक्ति आपके अकाउंट का इस्तेमाल नहीं कर सकता है।
  • WhatsApp पर सिर्फ आपका मैसेजिंग और वीडियो कॉलिंग ही एंड टू एंड इंक्रिप्टेड होते हैं, जबकि Signal App पर आपके सभी डाटा End to End Encrypted होते हैं।

 

Signal App से सम्बंधित कुछ सवाल (FAQs)


क्या Signal App WhatsApp का Alternative है?

हां इसे WhatsApp के दूसरे विकल्प के रूप में प्रयोग किया जा सकता है।

क्या Signal App WhatsApp की तुलना मे Safe है?

हां यह WhatsApp की तुलना में ज्यादा अच्छा और सुरक्षित है।

Signal App ज्यादा Popular कब से होने लगा है?

वैसे तो यह सिक्योरिटी के मामले में काफी पहले से पॉपुलर है, लेकिन जब से WhatsApp ने अपनी प्राइवेसी पॉलिसी में बदलाव किया और टेस्ला मोटर्स के CEO Elon Musk ने अपने Twitter पर इसको Use करने के लिए Tweet किया तब से यह काफी ज्यादा पॉपुलर हो गया है।

Signal App को किस Company ने बनाया है?

इसे Signal Foundation और Signal Messenger LLC के द्वारा वर्ष 2014 में बनाया गया था।

Signal App को किसने बनाया है?

इसे एक अमेरिकन क्रिप्टोग्राफर मॉक्सी मार्लिनस्पाइक ने बनाया था और इस समय वही इसके CEO है।

Signal App किस देश का App है?

यह कैलिफ़ोर्निया, United State America का एप्लीकेशन है।

Signal app कैसे Download करें?

Signal गूगल के Play Store तथा एप्पल के iStore पर उपलब्ध है, आप वहां से इसे फ्री में डाउनलोड कर सकते हैं।


 

Signal App Kya Hai – लेख आपको कैसा लगा?

हमें उम्मीद है कि आपको हमारा लेख Signal App Kya Hai? पसंद आया होगा। और इसे पढ़कर आप यह समझ गए होंगे कि अन्य Apps की तुलना में यह सबसे बेहतर क्यों है? अगर अब भी आपके मन में इस लेख से संबंधित कोई भी सवाल है, तो उसे आप हमसे Comment Section के द्वारा पूछ सकते हैं।

अगर आपको हमारा यह लेख पसंद आया हो तो कृपया हमारे इस लेख को अपने दोस्तों के साथ और सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूलें, जिससे दूसरे लोग भी इसके बारे में जान सकें धन्यवाद।

ये भी पढ़ें:

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here