Graduation Kya Hai और ग्रेजुएट का मतलब क्या होता है? पूरी जानकारी

क्या आप जानते हैं Graduation Kya Hai, ग्रेजुएट का मतलब क्या होता है और यह कैसे किया जाता है और यह कितने साल का होता है। तो इस पोस्ट को पूरा पढ़ें ताकि आपको Graduation के बारे में पूरी जानकारी प्राप्त हो जाए और आप सही ग्रेजुएशन कोर्स का चयन भी कर सकें।

बहुत से छात्र गूगल करते हैं की 12th के बाद क्या करें और किस Field में आगे की पढ़ाई करें ताकि उन्हें अच्छी नौकरी मिल सके। कुछ छात्र डॉक्टर व इंजीनियर बनने की पढ़ाई करते हैं तो कुछ Government Job की तैयारी करते हैं।

ग्रेजुएट होने के लिए बहुत सारे कोर्स हैं जिन्हें करके आप ग्रेजुएट हो सकते हैं अगर आप 12th पास कर चुके हैं तो आप इस पोस्ट को ध्यान से पढ़ें जिससे आपको Graduation Kya Hai जानने के साथ ग्रेजुएशन कोर्स चुनने में भी आसानी हो।

Graduation Kya Hai | ग्रेजुएशन मतलब क्या होता है?

Graduation Kya Hai

12th पास करने के बाद 3 साल के Bachelor Degree कोर्स को ही ग्रेजुएशन या Under Graduation कहते हैं ग्रेजुएशन में अलग-अलग field की पढ़ाई के लिए अलग-अलग कोर्स हैं जिसे कॉलेज और यूनिवर्सिटी के द्वारा कराया जाता है।

बहुत सारे विश्वविद्यालय और कॉलेज मौजूद हैं कुछ प्राइवेट और कुछ सरकारी हैं जिनमें प्रवेश लेकर ग्रेजुएशन कर सकते हैं और 3 साल कोर्स को पूरा करने के बाद आपको डिग्री मिल जाती है।

ग्रेजुएशन के बाद आप चाहें तो पोस्ट ग्रेजुएशन में प्रवेश ले सकते हैं या सरकारी नौकरी की तैयारी कर सकते हैं या किसी और कोर्स की परीक्षा के लिए आवेदन कर सकते हैं और अपना करियर बना सकते हैं।

ग्रेजुएट का मतलब क्या होता है?

Students द्वारा इंटरमीडिएट पास करने के बाद ग्रेजुएशन में प्रवेश लेकर 3 साल की पढ़ाई पूरी करने के बाद डिग्री जिन छात्रों को प्राप्त होती है उन्ही छात्रों को ग्रेजुएट कहते हैं।

बैचलर डिग्री को पूरा करने के बाद छात्रों को ग्रेजुएशन की डिग्री मिल जाती है इस कारण उन्हें ग्रेजुएट छात्र भी कहा जाता है।

ग्रेजुएशन कोर्स लिस्ट हिंदी –

नीचे दिए गये टेबल में कुछ ग्रेजुएशन कोर्सेज हैं जो इंडिया में मशहूर हैं। यूनिवर्सिटी द्वारा बहुत से ग्रेजुएशन कोर्स कराये जाते हैं जिन्हें आप उनकी वेबसाइट पर जाकर देख सकते हैं –

Short  From

Graduation Course Name

B.A

Bachelor of Arts

B.SC

Bachelor of Science

B.COM

Bachelor of Commerce

BCA

Bachelor of Computer Application

B.Des

Bachelor of Design

BA LLB

BA with Bachelor of Law

B.Tech

Bachelor of Technology

B.Arch

Bachelor of Architecture

B.E

Bachelor of Engineering

BFA

Bachelor of Fine Arts

B.D.S

Bachelor of Dental Surgery

B.F.M

Bachelor of Finance Management

 

Important: जिन छात्रों को Undergraduate meaning in hindi का मतलब पता नही है उन्हें बता दें इसका मतलब स्नातक होता है।

Graduation के लिए योग्यता

Graduation के लिए इंटरमीडिएट पास होना जरूरी है 12th किसी भी विषय से पास कर सकते हैं। बहुत से ग्रेजुएशन कोर्स के लिए 50% – 55% Marks होना जरूरी है उसके बाद आप प्रवेश ले सकते हैं।

अगर बात करें बीटेक, बीई Under Graduation Course में एडमिशन लेने के लिए IIT का JEE Mains एग्जाम क्लियर करना जरूरी होता है।

कुछ टॉप यूनिवर्सिटी में ग्रेजुएशन कोर्स में एडमिशन के लिए Entrance Exam लिया जाता है जबकि State Level Top यूनिवर्सिटी में 12th के नंबर्स के आधार पर एडमिशन दिया जाता है।

ग्रेजुएशन कैसे करें?

अगर आपने बारहवीं कक्षा पास कर ली है तो आप किसी भी सरकारी कॉलेज, यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन की डिग्री कर सकते हैं।

अगर आप किसी प्राइवेट कॉलेज या यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन करना चाहते हैं तो इन बातों का ध्यान दें –

  • टॉप यूनिवर्सिटी में एडमिशन के लिए 12th क्लास में अच्छे नंबर का होना जरूरी है।
  • Btech के लिए 12th Maths में 75% से ज्यादा अंक और IIT के JEE Exam के Merit List में आना जरूरी है।
  • प्राइवेट कॉलेज में एडमिशन के लिए 12th में 80% से ज्यादा नंबर होना जरूरी है।

नोट : 12th विज्ञान वर्ग से करने वाले B.SC, B.tech के अलावा BA में भी एडमिशन ले सकते हैं लेकिन कला वर्ग वाले B.SC नही कर सकते।

 Graduation के बाद क्या करें?

Graduation करने के बाद आप चाहें तो सरकारी नौकरी की तैयारी कर सकते हैं या आप अपनी आगे की पढ़ाई करना चाहते हैं तो पोस्ट ग्रेजुएशन के लिए MA, M.COM, MBA, M.tech जैसे कोर्सेज के लिए आवेदन कर सकते हैं।

Graduation करने के फायेदे

वर्तमान में इतना कम्पटीशन बढ़ गया है कि सरकारी नौकरी प्राप्त करना काफी मुश्किल हो गया है और यही हाल प्राइवेट सेक्टर में है लेकिन काफी कम्पनियों और सरकारी विभागों में Higher Education वाले छात्रों को प्राथमिकता मिलती है इंटरमीडिएट पास करने वाले छात्रों के मुकाबले।

पहले समय में इंटरमीडिएट पास करने वाले छात्र को नौकरी मिलना काफी आसान था लेकिन अब काफी मुश्किल है अधिकांश पदों के लिए ग्रेजुएशन पास करने वाले छात्रों को ही चुना जाता है।

ग्रेजुएशन करने के बाद करियर विकल्प बढ़ जाते हैं क्योंकि अधिकतर पदों के लिए Higher Education वाले छात्रों को ही भर्ती किया जाता है।

——— FAQ ———

ग्रेजुएशन कितने साल का होता है?

ग्रेजुएशन 3 साल का कोर्स होता है। ग्रेजुएशन के कुछ कोर्स 4 एवं 5 साल के भी होते है।

ग्रेजुएशन कब किया जाता है?

ग्रेजुएशन कोर्स को 12th पास करने के बाद किया जाता है।

ग्रेजुएशन में कितने सब्जेक्ट होते हैं?

ग्रेजुएशन के अलग-अलग कोर्स में अलग-अलग सब्जेक्ट होते है। अगर कोई बीए, बीएससी कर रहा है तो उसके विषय कम होते है जबकि बीटेक, बीई में ज्यादा सब्जेक्ट होते है।

ग्रेजुएशन कौनसी क्लास होती है?

12वीं क्लास के बाद स्नातक स्तर की पढ़ाई के लिए जो भी classes होती है, वो ग्रेजुएशन क्लास के अंतर्गत आती है।

Conclusion

इस पोस्ट में हमने पढ़ा कि Graduation Kya Hai, ग्रेजुएट का मतलब क्या होता है उम्मीद करते हैं आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। अगर यह जानकारी आपको पसंद आई तो इसे शेयर करना न भूलें धन्यवाद।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here