CPU क्या है यह काम कैसे करता है और ये कितने प्रकार के होते हैं?

आज के इस पोस्ट में हम बात करने वाले हैं CPU यानी कि Central Processing Unit के बारे में और इससे जुडी और भी बहुत सी important चीज़ों के बारे में जैसे कि CPU क्या है (What is CPU in Hindi), CPU कैसे काम करता है (How CPU Works in Hindi), CPU के प्रकार (Types of CPU in Hindi), CPU Clock Speed क्या है और Multi-Core Processors क्या होते हैं? आज का यह पोस्ट आपके लिए बहुत फायदेमंद साबित होने वाला है इसलिए इस पोस्ट को पूरा पढ़ें। 

CPU क्या है (What is CPU in Hindi)?

what is cpu in hindi

Central processing unit (CPU) कंप्यूटर सिस्टम का central component है। कभी-कभी इसे microprocessor या processor भी कहा जाता है। यह एक मस्तिष्क की तरह है जो कंप्यूटर के अंदर होने वाली सभी कार्यों को control करता है। कंप्यूटर पर किए जाने वाले सभी कार्य और प्रक्रियाएं processor द्वारा प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष रूप से की जाती हैं। जाहिर है, computer processor कंप्यूटर सिस्टम के सबसे महत्वपूर्ण element में से एक है।

CPU आउटपुट देने से पहले कंप्यूटर की RAM से इंस्ट्रक्शनल इनपुट लेता है, एक्शन को डिकोड और प्रोसेस करता है। CPU कंप्यूटर और लैपटॉप से लेकर स्मार्टफोन, टैबलेट और स्मार्ट टीवी तक सभी प्रकार के उपकरणों में होते हैं। छोटी और आमतौर पर square chip को डिवाइस के motherboard पर रखा जाता है जो आपके कंप्यूटर को संचालित करने के लिए अन्य हार्डवेयर के साथ interact करता है। 

Parts of CPU in Hindi

Arithmetic Logic Unit (ALU): यह कंप्यूटर प्रोसेसर (CPU) का हिस्सा है जिसका उपयोग arithmetic और logic operations करने के लिए किया जा सकता है। एक arithmetic-logic unit (ALU) को दो भागों में विभाजित किया गया है, पहला (AU) arithmetic unit और दूसरा (LU) logic unit.

Control Unit (CU): यह कंप्यूटर की Central processing unit (CPU) का एक हिस्सा है, जो प्रोसेसर के संचालन को निर्देशित करता है।  कंप्यूटर की मेमोरी, arithmetic/logic unit  और इनपुट और आउटपुट डिवाइस को कैसे प्रोसेसर को भेजे गए निर्देशों का जवाब देना है, यह बताना कंट्रोल यूनिट की जिम्मेदारी होती है। यह प्रोग्राम के internal instructions को main memory से processor instruction register, में लाता है, और इस register contents के आधार पर,control unit एक control signal उत्पन्न करता है जो इन निर्देशों के निष्पादन की निगरानी करता है।

Registers: यह कंप्यूटर प्रोसेसर का अस्थायी storage areas होता  है। इसे  control unit(CU) द्वारा manage किया जाता है। data,instruction और address  को Registers hold करके रखते हैं जो कि program के run करते समय आवश्यक होते हैं।

Processor आपके कंप्यूटर सिस्टम के निम्नलिखित महत्वपूर्ण पहलुओं में एक महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है।

Performance: प्रोसेसर Pc में system performance का सबसे महत्वपूर्ण एकल निर्धारक (single determinant) है। जबकि अन्य components भी performance को निर्धारण करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं, प्रोसेसर की क्षमताएं सिस्टम के अधिकतम performance को निर्धारित करती हैं।

Software Support: नए, तेज प्रोसेसर latest software के उपयोग को सक्षम करते हैं। इसके अलावा, नए प्रोसेसर जैसे कि Pentium with MMX Technology, specialized software के उपयोग को सक्षम करते हैं जो पहले की मशीनों पर उपयोग करने योग्य नहीं थे।

Reliability and Stability: Processor की गुणवत्ता एक factor है जो यह निर्धारित करती है कि आपका सिस्टम कितनी मज़बूती (reliably) से चलेगा। जबकि अधिकांश processor बहुत भरोसेमंद होते हैं, कुछ नहीं भी हैं। यह प्रोसेसर की age और कितनी ऊर्जा की खपत करता है इस  पर निर्भर करता है।

CPU काम कैसे करता है?

पहले CPU के वजूद में आने के बाद से वर्षों से इसमें बहुत सुधार हुए हैं। इसके बावजूद, CPU का मूल कार्य तीन चरणों से मिलकर बना हुआ है; fetch, decode, और execute.

Fetch

Instruction को संख्याओं की एक श्रृंखला के रूप में दर्शाया जाता है और इसे RAM से सीपीयू में भेजा जाता है। प्रत्येक instruction किसी भी ऑपरेशन का केवल एक छोटा सा हिस्सा होता है, इसलिए CPU को यह जानने की जरूरत होती है कि अगला कौन सा instruction आना है। PC और instructions को तब एक  Instruction Register (IR) में रखा जाता है और फिर अगले instruction के address के reference के लिए PC length को increase कर दिया जाता  है।

Decode

एक बार जब एक instruction प्राप्त हो जाता है और IR में store कर लिया जाता है, तो वह सीपीयू जो instruction को circuit में pass करता है instruction decoder कह लता है। यह instruction को signals में convert करता है  जिससे की वह CPU के बाक़ी के दूसरे parts से गुजरने सके। 

Execute

अंतिम चरण में, डिकोड किए गए instructions को पूरा करने के लिए CPU के संबंधित भागों में भेजा जाता है। Results आमतौर पर सीपीयू रजिस्टर में लिखे जाते हैं, जहां उन्हें बाद के instructions द्वारा संदर्भित (referenced) किया जा सकता है।

Cores and clocks

मूल रूप से, प्रोसेसर में एक single processing core होते थे। आज के आधुनिक प्रोसेसर multiple cores से बने होते हैं जो इसे एक ही बार में multiple instructions देने की अनुमति देते हैं। वे एक ही चिप पर प्रभावी रूप से कई सीपीयू होते  हैं। आज मार्किट में बिकने वाले लगभग सभी सीपीयू कम से कम dual core होते  हैं, लेकिन अंत में, आपको कुछ मामलों में four (quad) core CPUs, और यहाँ तक कि six, eight and 12 core CPUs भी दिखाई देंगे। कुछ प्रोसेसर मल्टी-थ्रेडिंग नामक एक तकनीक का भी उपयोग करते हैं, जो वर्चुअल प्रोसेसर कोर बनाता है। वे physical cores के रूप में उतने शक्तिशाली नहीं होते हैं, लेकिन वे सीपीयू के प्रदर्शन को बेहतर बनाने में मदद कर सकते हैं।

Clock speed एक और संख्या है जो सीपीयू के साथ बहुत अधिक रूप से जानी जाती है। यह एक “gigahertz” (GHz) figure है जिसे आप CPU product listings पर quoted देखेंगे। यह प्रभावी रूप से निरूपित करता है कि एक सीपीयू प्रति सेकंड कितने निर्देशों को संभाल सकता है। Clock speed तब वज़ूद में आते हैं जब CPU को compare करना होता है same product family या generation से। जब बाकी सभी समान होते हैं, तो एक faster clock speed का मतलब तेज़ प्रोसेसर होता है। 

CPU के प्रकार (Types of CPU in Hindi)

Single Core CPUs

Single Core CPU सबसे पुराने प्रकार का CPU है और शुरू में यह एकमात्र प्रकार का सीपीयू था जिसे कंप्यूटर में इस्तेमाल किया जा सकता था। Single Core CPU केवल एक बार में एक ऑपरेशन शुरू कर सकते हैं, इसलिए वे मल्टी-टास्किंग में बहुत अच्छे नहीं थे। इसका मतलब था कि जब भी एक से अधिक एप्लिकेशन चलना रहता था , तो उनके performance में ध्यान देने योग्य कमी आती थी। हालाँकि एक समय में केवल एक ही ऑपरेशन शुरू किया जा सकता था, कोई दूसरा operation तभी activate होता था जब तक कि पहला वाला ख़तम न हो जाये जिससे  प्रत्येक नए ऑपरेशन के साथ कंप्यूटर बहुत धीमी गति से चलता था।

Dual Core CPUs

Dual Core CPU एक single CPU है जिसमें two cores होते हैं और इस प्रकार एक में दो सीपीयू की तरह कार्य करता है। dual core CPUs मल्टीटास्किंग को अधिक कुशलता से handle कर सकते हैं। Dual core, CPUs single core वाले की तुलना में तेज होते हैं लेकिन quad core CPUs जितने तेज नहीं होते हैं। 

Quad Core CPUs

Quad-core processor एक multiprocessor architecture है जो तेजी से processing power प्रदान करने के लिए डिज़ाइन किया गया है। यह डुअल-कोर प्रोसेसर का उत्तराधिकारी (successor) है, जिसमें दो processor cores होते  हैं। Quad-core processors एक प्रोसेसर के भीतर dual-core processors को एकीकृत करता है। दो अलग-अलग dual cores, processor cache का उपयोग करते हुए एक दूसरे के साथ संवाद करते हैं। Quad-core processor एक साथ multiple instructions को execute कर सकता है, जिसका अर्थ है कि प्रत्येक core, separate instruction के लिए dedicated हो सकता है।

Multi-Core Processors क्या है?

एक multi-core processor वास्तव में एक cpu है जिसमें दो या अधिक independent cores होते हैं। Core सामान्य प्रोसेसर के समान होते हैं। वे program instructions को execute करते हैं। multi-core processor का मुख्य लाभ यह है कि यह एक ही समय में कई instructions को चला सकता है। यह सुविधा performance speed को काफी बढ़ा देती है। सभी programs जिनमें parallel computing features हैं, multi-core processors पर चल सकते हैं।

CPU क्या है आपको यह पोस्ट कैसा लग?

हम उम्मीद करते हैं कि यह post CPU क्या है (What is CPU in Hindi) आपको पसंद आया होगा और इसमें आपको काफी कुछ नया जानने को मिला होगा और अब आप Single Core, Dual Core और Quad Core CPUs के बारे में जान गए होंगे।

अगर आपके मन में हमारे इस post What is CPU in Hindi को लेकर कोई सवाल है या आप कोई सुझाव देना चाहते हैं तो आप नीचे comment box में जाकर लिख सकते हैं। 

अगर आपको यह post अच्छा लगा तो कृपया इस post को नीचे दिए गए social media बटन का उपयोग करके share करें धन्यवाद। 

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here