अर्थव्यवस्था किसे कहते हैं | अर्थव्यवस्था कितने प्रकार के होते हैं

अर्थव्यवस्था किसे कहते हैं: आज की इस पोस्ट में हम जानेंगे कि अर्थव्यवस्था क्या है (Economy in Hindi) तथा ये कितने प्रकार के होते हैं। 

अर्थव्यवस्था किसे कहते हैं

अर्थव्यवस्था किसे कहते हैं (Arthavyavastha Kise Kahate Hain)

अर्थव्यवस्था किसी देश या क्षेत्र विशेष में होने वाले आर्थिक क्रियाओं की प्रकृति व स्तर को दर्शाता है। वस्तुओं और सेवाओं के उत्पादन विवरण व उपयोग की सामाजिक व्यवस्था को अर्थव्यवस्था कहते हैं।

अर्थव्यवस्था कितने प्रकार के होते हैं

अर्थव्यवस्था 3 प्रकार की होती है – 

1) पूंजीवादी/उदारवादी अर्थव्यवस्था किसे कहते हैं 

ऐसी अर्थव्यवस्था जिसमें उत्पादन के साधनों का अधिकार निजी व्यक्तियों के पास होता है। जिसका इस्तेमाल निजी लोगों के लिए किया जाता है।

जैसे – अमेरिका, जापान 

2) समाजवादी अर्थव्यवस्था किसे कहते हैं

ऐसी अर्थव्यवस्था जिसमें उत्पादन के साधनों का अधिकार देश की सर्कार के पास होता है। जिसका इस्तेमाल समाज के फायदे के लिए किया जाता है, उसे समाजवादी अर्थव्यवस्था कहते हैं।

जैसे – चीन, क्यूबा 

3) मिश्रित अर्थव्यवस्था किसे कहते हैं

ऐसी अर्थव्यवस्था जिसमें उत्पादन के साधनों का अधिकार सर्कार तथा निजी व्यापारियों के पास होती है। यह अर्थव्यवस्था पूंजीवादी तथा समाजवादी अर्थव्यवस्था का मिश्रण है।

जैसे – भारत 

4) अविकसित अर्थव्यवस्था 

वैसी जगहों को अविकसित अर्थव्यवस्था कहा जाता है जहाँ तीनों तरह के साधनों प्राकृतिक, भौतिक और मानवीय में से कोई भी एक शून्य होता है।

जैसे – धुर्वीय क्षेत्र, सहारा रेगिस्तान 

5) अल्पविकसित तथा विकासशील अर्थव्यवस्था

इस तरह की अर्थव्यवस्था में अप्रयुक्त (जो काम में न लाया गया हो) मानव संसाधन होती है और साथ ही प्राकृतिक संसाधनों की न्यूनतम उपलब्धता पाई जाती है।

विकासशील अर्थव्यवस्था में मुद्रा सम्बन्धी, प्रौद्योगिकी व गैर आर्थिक सीमाओं के कारण विकसित देशों की तुलना में आय, उपभोग, बचत तथा पूँजी निर्माण का स्तर अपेक्षाकृत निम्न होता है।

6) विकसित अर्थव्यवस्था 

वैसी अर्थव्यवस्था जहाँ उत्पादन के तीनों संसाधन प्राकृतिक, भौतिक और मानवीय संसाधन प्रचुर मात्रा में उपलब्ध होता है व उनका अनुकूलतम तथा समुचित उपयोग हो रहा होता है। 

7) खुली अर्थव्यवस्था 

वैसी अर्थव्यवस्था जिसका दुनिया के अन्य अर्थव्यवस्थाओं के साथ उचित आर्थिक सम्बन्ध व्याप्त होता है। ऐसी अर्थव्यवस्था उत्पादन, उपभोग तथा पूँजी निर्माण बाहरी लेन-देन से प्रभावित होता है।

  • खुली अर्थव्यवस्था में आयात-निर्यात पर न्यूनतम प्रतिबन्ध होता है।
  • आधुनिक विश्व की लगभग सभी अर्थव्यवस्था खुली अर्थव्यवस्था है।

8) बंद अर्थव्यवस्था 

वह अर्थव्यवस्था जो बाहरी अर्थव्यवस्थाओं से किसी भी प्रकार से आर्थिक सम्बन्ध नहीं रखती तथा आयात-निर्यात की गतिविधियाँ शून्य होती हैं।

उदहारण – उत्तर कोरिया  

संरचना के आधार पर अर्थव्यवस्था 3 प्रकार की होती है – 

  1. प्राथमिक क्षेत्र: कृषि, डेरी, मछली पालन 
  2. द्वितीय क्षेत्र: औद्योगिक क्षेत्र, बिजली निर्माण 
  3. तृतीय क्षेत्र: सेवा क्षेत्र, बैंक, परिवहन, संचार, शिक्षा, चिक्तिसा, वव्यापार, मनोरंजन 

FAQ

Q. अर्थव्यवस्था में कितने क्षेत्र होते हैं?

Ans. प्राथमिक क्षेत्र, द्वितीय क्षेत्र तथा तृतीय क्षेत्र 

यह भी पढ़ें – 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here